Bookmark and Share   

This category has been viewed 2507 times

2 pairing knife recipes


Last Updated : Sep 16,2021




पेयरींग नाईफ रेसिपी - हिन्दी में पढ़ें (pairing knife recipes in Hindi)
પેરિંગ નાઇફ રેસીપી - ગુજરાતી માં વાંચો (pairing knife recipes in Gujarati)

Test Page.

Fruits

Anjeer ( Dried Figs) 4.9 g of fiber is what ½ cup of dried figs offer and keep constipation at bay. 2 to 3 dried figs are a good source of fibre and dried figs soaked overnight and consumed next morning are often used as a laxative to cleanse the gut. Being a good source of potassium, dried figs can help balance the sodium and potassium ratio, thus controlling blood pressure and good for heart. Yes, figs contain a good amount of fiber which is sure to benefit you by keeping you full for longs hours. But dried figs are high in natural sugar and carbs and thus a good source of energy and thus should be eaten in moderation, especially by those aiming weight loss. The antioxidant phenol and fibre in dried figs both work together to eliminate free radicals which would otherwise damage blood vessels and trigger heart diseases. The calcium in it is needed to bone strengthening process. Due to its high carb count, diabetics should avoid them or have one occasionally and balance it with other low carb foods in that meal. See detailed benefits of anjeer, dried figs

सूखे अंजीर Benefits of Anjeer, Dried Figs in Hindi : 4.9 ग्राम फाइबर होता है ½ कप सूखे अंजीर में और इसलिए यह कब्ज को दूर रखता है। 2 से 3 सूखे अंजीर फाइबर का एक अच्छा स्रोत होते हैं और सूखे अंजीर रात भर भिगोए जाने के बाद अगली सुबह इसका सेवन अक्सर आंत को साफ करने के लिए एक रेचक के रूप में उपयोग किया जाता है। पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत होने के नाते, सूखे अंजीर सोडियम और पोटेशियम अनुपात को संतुलित करने में मदद करते हैं और इसलि रक्तचाप और हृदय के लिए अच्छा है। हां, अंजीर में अच्छी मात्रा में फाइबर भी होता है जो आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखने में मदद करता है। पर सूखे अंजीर प्राकृतिक चीनी और कार्ब्स में उच्च होते हैं और इस प्रकार ऊर्जा का एक अच्छा स्रोत होते हैं और इसलिए उन्हें मॉडरेशन में खाया जाना चाहिए, विशेष रूप से उन लोगों द्वारा जो वजन कम करने का लक्ष्य रखते हैं। सूखे अंजीर में रहित एंटीऑक्सिडेंट फिनोल और फाइबर दोनों मुक्त कणों को खत्म करने के लिए एक साथ काम करते हैं जो अन्यथा वह रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं और हृदय रोग को ट्रिगर कर सकते हैं। इसमें रहा कैल्शियम हड्डियों को मजबूत करने की प्रक्रिया के लिए आवश्यक होता है। इसकी उच्च कार्ब गिनती के कारण, मधुमेह रोगियों को उनसे दूर रहना चाहिए या एक सूखे अंजीर का सेवन करना चाहिए  और भोजन में अन्य कम कार्ब वाले खाद्य पदार्थों के साथ इसे संतुलित करना चाहिए। अंजीर, सूखे अंजीर के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked dried figs in Hindi

Chickoo: Chickoo, also called as sapota, is a brown coloured fruit which may be round to oval in shape and about 4 to 8 cm in diameter. Chickoo is a very healthy fruit when we talk about gut health. The high fiber in it helps to keep the gut clean, avoid constipation and boost metabolism. Weight watchers can include this fruit in moderation in their diet, but without peeling it as much of the fiber lies just beneath its skin. While small quantities can be beneficial in meeting fiber requirements, excess of it might cause weight gain because of its high carbs. Diabetics too should best try and avoid this fruit, due to its high carb count. There is no such restriction on consumption of chickoo for heart patients. In fact the good amount of vitamin C in it is beneficial for heart. Chickoo is also a storehouse of tannins, a powerful antioxidant, which fights free radicals and protect heart. 

चीकू (Benefits of Chickoo): चीकू, जिसे सॅपोटा भी कहा जाता है, एक भूरे रंग का फल है जो गोल या अंडाकार और लगभग 4 से 8 से.मी. व्यास का हो सकता है। चीकू एक बहुत ही सेहतमंद फल है, जब हम पेट के स्वास्थ्य के बारे में बात करते हैं। इसमें मौजूद उच्च फाइबर आंत को साफ रखने, कब्ज से बचने और चयापचय को बढ़ावा देने में मदद करता है। वेट वॉचर्स इस फल को अपने आहार में मॉडरेशन में शामिल कर सकते हैं, लेकिन इसे छीले बिना क्योंकि अधिक फाइबर इसके छीलके के नीचे होता है। जबकि इस फल की थोड़ी मात्रा फाइबर की आवश्यकताओं को पूरा करने में फायदेमंद हो सकती है, इसका अधिक सेवन वजन बढ़ने का कारण हो सकती है, इसकी उच्च कार्ब्स के कारण।  मधुमेह के रोगी भी इसकी उच्च कार्ब की गिनती के कारण इस फल का सेवन न करें तो बेहतर होगा। दिल के रोगियों के लिए चीकू के सेवन पर कोई प्रतिबंध नहीं है, वास्तव में इसमें विटामिन सी की अच्छी मात्रा दिल के लिए फायदेमंद है। चीकू टैनिन का एक भंडार भी है, जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है, जो मुक्त कणों से लड़ता है और दिल की रक्षा करता है।

@nisha checked chickoo in Hindi

Apples : Being low in sodium, apples are effective against high blood pressure because of its diuretic effect. Don't peel the fruit to get maximum apple benefits. Two-thirds of the fibre and lots of antioxidants are found in the peel. Apple benefits diabetics as the soluble fibre assists in regulating blood sugar and is heart friendly. See detailed 9 health benefits of apple

सेब (Benefits of Apple, Seb in Hindi): सेब में सोडियम  कम होने के कारण, वह अपने डाइयुरेटिक प्रभाव के कारण उच्च रक्तचाप के खिलाफ प्रभावी होते हैं। सेब के अधिकतम लाभ पाने के लिए इसको छीलें नहीं। छिलके में दो-तिहाई फाइबर और बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। सेब मधुमेह रोगियों को लाभदायक होता है क्योंकि घुलनशील फाइबर रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में सहायता करता है और हृदय के लिॆए भी अनुकूल होता है। सेब के 9 विस्तृत स्वास्थ्य लाभ पढें।

@nisha checked apple in Hindi

સફરજન (Benefits of Apple, Seb in Gujarati): સફરજનમાં સોડિયમ ઓછું હોવાથી, તેમની ડાઈયુરેટીક પદાર્થની અસરને કારણે તે હાઈ બ્લડ પ્રેશર સામે અસરકારક છે. સફરજનના મહત્તમ લાભ મેળવવા માટે ફળની છાલ કાઢશો નહીં. છાલમાં બે તૃતીયાંશ ફાઇબર અને ઘણાં બધાં એન્ટીઑકિસડન્ટ મળી આવે છે. સફરજન મધૂમેહના દર્દીઓને ફાયદો આપે છે કારણ કે દ્રાવ્ય ફાઇબર લોહીમાં શર્કરાને નિયંત્રિત કરવામાં મદદ કરે છે અને તે હૃદય માટે પણ અનુકૂળ છે. સફરજનના 9 વિગતવાર આરોગ્ય લાભો વાંચો.

@Krupali checked apple in Gujarati

Green apple: The health benefits of green apple are almost similar to red apple, but some research shows that green apple may contain slightly more fibre and less carbs and sugar. Its peel consists of dietary fibre, mainly pectin, which helps in reducing weight and maintaining healthy gut flora. The flavonoids in green apple may help in fighting chronic diseases like cancer and heart disease, if consumed daily. This compound which is a major component in green apple peels also helps to lower blood sugar levels and manage type-2 diabetes mellitus. The compound quercetin along with flavonoids also helps to reduce oxidative damage and reduce inflammation in the body. 

हरे सेब (health benefits of green apple): हरे सेब के स्वास्थ्य लाभ लगभग लाल सेब के समान ही होते हैं, लेकिन कुछ शोध से पता चलता है कि हरे सेब में थोड़ा अधिक फाइबर और कम कार्ब्स और चीनी हो सकती है। इसके छिलके में डायटरी फाइबर, मुख्य रूप से पेक्टिन होता है, जो वजन कम करने और स्वस्थ आंतों को बनाए रखने में मदद करता है।  यदि रोजाना इसका सेवन किया जाए तो, हरे सेब में मौजूद फ्लेवोनोइड कैंसर और हृदय रोग जैसी घातक बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकता है। यह यौगिक जो हरे सेब के छिलकों का एक प्रमुख घटक होता है, वह रक्त शर्करा के स्तर को कम करने और टाइप -2 मधुमेह को प्रबंधित करने में भी मदद करता है। फ्लेवोनोइड्स के साथ यौगिक क्वेरसेटिन ऑक्सीडेटिव क्षति को कम करने और शरीर में इन्फ्लमेशन को कम करने में भी मदद करता है।

@nisha checked green apple in hindi

Avocado : Avocados are rich in monounsaturated fatty acids (MUFA) which help to manage the cholesterol levels within normal limits. They also help reduce inflammation in the body and prevent blockage of arteries – one of the main reasons for heart attacks. Further, avocados also have a good ratio of potassium to sodium. A high potassium and low sodium ingredient enables to keep your blood pressure stable, which helps to stave off heart disease and stroke both. Though avocados are high in fats, they are all healthy fats. MUFA not only promote healthy cholesterol levels and blood pressure, but they also improve insulin sensitivity to help manage diabetes.  The fiber in avocado (5 g) and the healthy fats (11 g) along with low carbs (6.3 g) aids in weight loss. See detailed avocado benefits.

एवकाडो (Benefits of Avocado in Hindi) : एवकाडो मोनो अनसैचुरेटेड फैटी एसिड (monounsaturated fatty acids -MUFA) से भरपूर होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करते हैं। वे शरीर में उत्तेजना (inflammation - इन्फ्लमेशन) को कम करने और आर्टरी के ब्लॉकेज को रोकने में भी मदद करते हैं - जो दिल के दौरे के मुख्य कारणों में से एक हैं। इसके अलावा, एवकाडो में सोडियम और पोटेशियम का एक अच्छा रैशीओ (ratio) भी होता है। एक उच्च पोटेशियम और कम सोडियम वाला घटक आपके रक्तचाप को स्थिर रखने में सक्षम होता है, जो हृदय रोग को रोकने और स्ट्रोक टालने दोनों में मदद करता है। हालांकि एवकाडो वसा में उच्च हैं, पर वह सभी स्वस्थ वसा है। MUFA न केवल स्वस्थ कोलेस्ट्रॉल के स्तर और उपयुक्‍त रक्तचाप को बढ़ावा देता है, बल्कि इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करके मधुमेह का प्रबंधन करने में भी मदद करता है । एवकाडो में फाइबर (5 ग्राम) और स्वस्थ वसा (11 ग्राम) के साथ वजन घटाने में कम कार्ब्स (6.3 ग्राम) सहायक होते हैं। एवकाडो के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked avocado in Hindi

Banana : Banana is high in potassium. Potassium helps normalize the heartbeat and regulates the body's water balance. Bananas have low sodium content and high potassium content, and contribute for making it an ideal fruit for hypertensives. Bananas contain good amounts of potassium and magnesium which lowers the risk of heart diseases. See the 7 incredible benefits of banana

केला (Benefits of Banana, kela in Hindi): केले में पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। पोटेशियम दिल की धड़कन को नियंत्रित करने में मदद करता है और शरीर के पानी के संतुलन को भी नियंत्रित करता है। केले में सोडियम की मात्रा कम और पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है और यह उच्च रक्तचाप के लिए एक आदर्श फल माना जाता है। केले में पोटैशियम और मैग्नीशियम अच्छी मात्रा में होते हैं, जो हृदय रोग के खतरे को कम करता है। केले के 7 अविश्वसनीय लाभ पढें।

@ nisha checked banana in hindi 

કેળા (Benefits of Banana, kela in Gujarati): કેળામાં પોટેશિયમ વધુ હોય છે. પોટેશિયમ હૃદયના ધબકારાને સામાન્ય બનાવવામાં મદદ કરે છે અને શરીરના પાણીના સંતુલનને નિયંત્રિત કરે છે. કેળામાં ઓછી માત્રામાં સોડિયમ અને ઉચ્ચ માત્રામાં પોટેશિયમની સામગ્રી હોય છે અને તેને હાયપરટેન્શન માટે એક આદર્શ ફળ માનાવવામાં આવે છે. કેળામાં પોટેશિયમ અને મેગ્નેશિયમ સારી માત્રામાં હોય છે જે હૃદયરોગના જોખમને પણ ઓછું કરે છે. કેળાના ૭ અતુલ્ય ફાયદાઓ જુઓ.

@ Krupali checked banana in Gujarati 

Black Jamun : Black jamun is said to be a boon for diabetics as the enzyme 'jamboline' in it helps to control the blood sugar levels. With good levels of vitamin C, it is known to improve skin and eye health. It is a great immun-booster too. Not being very in high calories, it can be consumed by obese people aiming weight loss. The flavonoids in black jamun may exhibit potent anti-cancer properties.

काले जामुन (Benefits of Banana, kela in Hindi): काले जामुन को मधुमेह रोगियों के लिए वरदान माना जाता है क्योंकि इसमें एंजाइम 'जंबोलिन' रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। विटामिन सी के अच्छे स्तर के साथ, यह त्वचा और आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए जाना जाता है। यह एक बेहतरीन इम्यून-बूस्टर भी है। कैलोरी में उच्च नहीं होने के कारण, इसका सेवन मोटे लोगों द्वारा किया जा सकता है, जो वजन घटाने का लक्ष्य रखते हैं। काले जामुन में फ्लेवोनोइड्स शक्तिशाली कैंसर विरोधी गुणों का भी प्रदर्शन कर सकते हैं।

@nisha checked black jamun in Hindi

Blueberries : 1. Powerful Antioxidant : Blueberries have great antioxidant value, especially anthocyanins, which help to fight cancer and degeneration of cells. 2. Good for Skin : The antioxidants also help to fight harmful free radicals and reduce wrinkles on your skin. 3. Laxative : It is also used as a laxative and relieves intestinal troubles. 4. Makes you Younger : As it fights the free radicals and toxins in the body, they slow down the ageing process. 5. Low in Calories : Excellent for those on a weight loss diet. 6. Good for Diabetics : Since Blueberries are low in calories and high in fibre, they work well for Diabetics. 7. Rich in Vitamin C : One cup provides 25% of RDA. 8. Rich in Fiber : Being rich in fibre they aid weight loss. You can choose between fresh and frozen blueberries. 

ब्लूबेरी (Benefits of Blueberries in Hindi): 1. शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट: ब्लूबेरी में अधिक एंटीऑक्सीडेंट मूल्य होते हैं, विशेष रूप से एंथोसायनिन, जो कैंसर और कोशिकाओं के अध: पतन से लड़ने में मदद करते हैं। 2. त्वचा के लिए अच्छा: एंटीऑक्सिडेंट हानिकारक मुक्त कणों से लड़ने और आपकी त्वचा पर झुर्रियों को कम करने में भी मदद करते हैं। 3. रेचक : इसका प्रयोग रेचक के रूप में भी किया जाता है और यह आंतों की परेशानी से राहत देता है। 4. आपको जवान बनाए रखता है: चूंकि यह शरीर में मुक्त कणों और विषाक्त पदार्थों से लड़ता है और यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देते हैं। 5. कैलोरी में कम: यह वजन घटाने वाले आहार के लिए बहुत बढ़िया है। 6. मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा: चूंकि ब्लूबेरी कैलोरी में कम और फाइबर में उच्च होती है, इसलिए ये मधुमेह रोगियों के लिए अच्छी तरह से काम करती है। 7. विटामिन सी से भरपूर: एक कप RDA का 25% प्रदान करता है। 8. फाइबर से भरपूर: फाइबर से भरपूर होने के कारण ये वजन घटाने में मदद करते हैं। आप ताजा और फ्रोजन ब्लूबेरी के बीच में चयन कर सकते हैं।

@nisha checked blueerries in Hindi

બ્લુબેરી (Benefits of Blueberries in Gujarati) : 1. શક્તિશાળી એન્ટીઑકિસડન્ટ: બ્લુબેરીમાં વધુ એન્ટીઑકિસડન્ટ મૂલ્ય હોય છે, ખાસ કરીને એન્થોસાયનિન, જે કેન્સર સામે લડવામાં અને કોષોના અધોગતિમાં મદદ કરે છે. 2. ત્વચા માટે સારું: એન્ટીઑકિસડન્ટ હાનિકારક મુક્ત રેડિકલ સામે લડવામાં અને તમારી ત્વચા પરની કરચલીઓ ઘટાડવામાં પણ મદદ કરે છે. 3. રેચક: તેનો ઉપયોગ રેચક તરીકે પણ થાય છે અને આંતરડાની તકલીફમાંથી રાહત આપે છે. 4. તમને જુવાન રાખે છે: કારણ કે તે શરીરમાં મુક્ત રેડિકલ અને ઝેર સામે લડે છે અને વૃદ્ધત્વ પ્રક્રિયા ધીમી કરે છે. 5. ઓછી કેલરી: વજન ઘટાડવાના આહાર માટે આ ઉત્તમ છે. 6. ડાયાબિટીસના દર્દીઓ માટે સારું: બ્લૂબેરીમાં કેલરી ઓછી અને ફાઇબર વધારે હોવાથી તે ડાયાબિટીસના દર્દીઓ માટે સારી રીતે કામ કરે છે. 7. વિટામિન C થી સમૃદ્ધ: એક કપ RDA નો 25% ભાગ પૂરો પાડે છે. 8. ફાઇબરથી સમૃદ્ધ: ફાઇબરથી સમૃદ્ધ હોવાથી તેઓ વજન ઘટાડવામાં મદદ કરે છે. તમે તાજા અને ફ્રોજ઼ન બ્લુબેરી વચ્ચે પસંદ કરી શકો છો.

@nisha checked blueerries in Gujarati

Custard Apple, Sitafal : There are many antioxidants in custard apple like vitamin Cflavonoids, phenolic compounds. These antioxidants are helpful in reducing the oxidative stress by scavenging free radicals in the body. Almost 50% of the Recommended Daily Allowance of Vitamin K can be met by consuming 100 grams of Custard Apple. Custard Apples are good source of magnesium as 100g of the fruit provides 24% of the Recommended Daily Allowance (RDA) of Magnesium. Magnesium helps maintain nerve function and normal heartbeat. Sitafal is high in fibre, low in sodium and good for hypertension. See detailed benefits of custard apple

सीताफल (Benefits of Custard Apple, Sitaphal in Hindi): सीताफल में कई एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जैसे विटामिन सी, फ्लेवोनोइड, फेनोलिक कम्पाउन्ड आदि। ये एंटीऑक्सिडेंट शरीर में मुक्त कणों का नाश करके ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में सहायक होते हैं। विटामिन के की लगभग  50% दैनिक आवश्यकता सीताफल के 100 ग्राम सेवन से पूरी की जा सकती है। सीताफल मैग्नीशियम का भी अच्छा स्रोत है इसलिए 100 ग्राम सीताफल से लगभग मैग्नीशियम की 24% दैनिक आवश्यकता पूरी की जा सकती है। मैग्नीशियम तंत्रिका कार्य (nerve function) और हार्ट्बीट को बनाए रखने में मदद करता है। सीताफल फाइबर में उच्च और सोडियम में कम होता है और उच्च रक्तचाप के लिए अच्छा होता है। सीताफल के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked custard apple in Hindi

Green Grapes + Black Grapes : The flavonoid quercetin found in grapes helps to reduce the risk of heart diseases and prevents the onset of stroke. Resveratrol is another antioxidant that grapes possess. Grapes contain the necessary minerals to maintain or lower blood pressure. Vitamin C is known as an immune booster. Basically it helps to build our white blood cells (WBC), the immune cells, and builds a strong line of defence against common diseases like cold and coughDiabetics to eat in restricted quantity. See detailed benefits of grapes

हरे अंगूर + काले अंगूर (Benefits of Green Grapes, Black Grapes, Angoor in Hindi) : अंगूर में पाया जाने वाला फ्लेवोनॉइड क्वैरसेटिन (quercitin) हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करता है और स्ट्रोक को भी रोकता है। रेस्वेराट्रॉल (resveratrol) एक और एंटीऑक्सिडेंट है जो अंगूर में पाया जाता है। रक्तचाप को बनाए रखने या कम करने के लिए अंगूर में आवश्यक खनिज होते हैं। विटामिन सी एक प्रतिरक्षा बूस्टर (immune booster) के रूप में जाना जाता है। मूल रूप से यह हमारी श्वेत रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) का निर्माण करने में मदद करते हैं, और सर्दी और खांसी जैसी सामान्य बीमारियों से बचाव की एक मजबूत रेखा बनाते हैं। मधुमेह रोगियों को अंगूर प्रतिबंधित मात्रा में खाने चाहिए। अंगूर के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked green grapes in Hindi

black grape juice : A glass of freshly prepared black grape juice will boost your energy levels within minutes. Grape juice is highly nutritious and beneficial to our health due to presence of antioxidants, which help fight harmful free radicals in the body and prevent many chronic dieseases. Grape juice contains flavonoids, known to decrease hypercholesterolemia and prevent clogging of the arteries. Flavonoids also help in keeping the blood pressure to a lower level, thereby preventing high blood pressure and improving cardiac cases. Vitamin C in it helps in making the immune system stronger and plays a crucial role in absorption of iron. It has anti aging property and leads to a smooth glowing skin too. However grape juice is best avoided by diabetics. Also if buying readymade black grape juice, check for the presence of sugar, salt and other preservatives.

काले अंगूर का रस (Benefits of Black Grapes Juice in Hindi) : ताजा तैयार काले अंगूर के रस का एक गिलास मिनटों में आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा देगा। एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति के कारण अंगूर का रस हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक पौष्टिक और फायदेमंद होता है, जो शरीर में हानिकारक मुक्त कणों से लड़ने में मदद करता है और कई बीमारियों से बचाता है। अंगूर के रस में फ्लेवोनोइड्स होते हैं, जो हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया को कम करने और धमनियों के ब्लॉक होने से रोकने के लिए जाना जाता है। फ्लेवोनोइड्स रक्तचाप को निम्न स्तर पर रखने में भी मदद करते हैं, जिससे उच्च रक्तचाप को रोका जा सकता है और हृदय संबंधी मामलों में सुधार होता है। इसमें मौजूद विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करता है और लोह के अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसमें एंटी एजिंग गुण भी होते हैं और यह चिकनी चमकती त्वचा के लिए भी मदद करता है। हालांकि मधुमेह रोगी अंगूर के रस का सेवन टाले। इसके अलावा अगर रेडीमेड काले अंगूर का रस खरीदते हैं, तो चीनी, नमक और अन्य परिरक्षकों की उपस्थिति की जांच करें।

@nisha checked black grapes juice in Hindi

Guava (Peru) : After amla, guava is a fruit, which is packed with immune building Vitamin C (275.5 mg / cup). Guavas are a great source of fighting bacteria, which cause diseases like common cold and cough. They do so by fostering  white blood cells (WBC) production. The high fiber in Guava which is known to show positive weight loss and blood sugar control results, also is an aid to control blood pressure and is one of the healthy heart fruits and diabetic friendly. The most fruitful way to treat obesity is to eat healthy for weight loss – low fat, high fiber and high protein foods. See detailed benefits of guava

अमरूद (पेरू) (Benefits of Guava, Peru, Amrood in Hindi): आंवला के बाद, अमरूद एक ऐसा फल है जो प्रतिरक्षा निर्माण विटामिन सी (275.5 मिलीग्राम / कप) में भरपूर होता है। अमरूद बैक्टीरिया से लड़ने का एक बड़ा स्रोत हैं, जो सामान्य सर्दी और खांसी जैसी बीमारियों का कारण बनते हैं। यह श्वेत रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) के उत्पादन को बढ़ावा देकर ऐसा करते हैं। अमरूद में उच्च फाइबर होता है, जो वजन घटाने और रक्त शर्करा को नियंत्रण रखने में सकारात्मक  जाना जाता है। यह रक्तचाप को भी नियंत्रित करने में  सहायता करता है और स्वस्थ हृदय और मधुमेह के लिए भी अनुकूल है। मोटापे के इलाज के लिए सबसे उपयोगी तरीका है वजन कम करने के लिए स्वस्थ भोजन - कम वसा, उच्च फाइबर और उच्च प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ। अमरूद के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked guava in Hindi

 

Guava juice: Guava juice is a very good source of vitamin C, a nutrient which helps to fight bacteria and viruses, which can be a cause of common cold and cough. They do so by fostering white blood cells (WBC) production. But vitamin C is a volatile nutrient and so some of the vitamin C is lost on exposure to air. Hence this juice should be consumed immediately on making. If the juice has been strained, most of the fibre is lost. So heart patients and weight watchers should avoid straining the juice. Prefer homemade juice than store bought which often has sugar and preservatives. This juice is not recommended for diabetics

अमरूद का रस (health benefits of guava juice): अमरूद का रस विटामिन सी का एक बहुत अच्छा स्रोत है, एक पोषक तत्व जो बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में हमारी मदद करता है, जो सामान्य सर्दी और खांसी का कारण हो सकता हैं। वे श्वेत रक्त कोशिकाओं (डब्ल्यूबीसी) के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं। लेकिन विटामिन सी एक अस्थिर पोषक तत्व है और इसलिए थोडा विटमिन सी हवा के संपर्क में आने पर नष्ट हो जाता है। इसलिए इस जूस को बनाने पर तुरंत पीना चाहिए। यदि रस को छाना गया है, तो अधिकांश फाइबर खो जाता है। इसलिए दिल के मरीज़ और वेट वॉचर्स को जूस बिना छाने पीना चाहिए। बाजार से खरीदे हुए अमरूद का जूस की तुलना में घर का बना हुआ रस पसंद करें, क्योंकि  बाजार में मिलने वाले जूस में अक्सर चीनी और संरक्षक होते हैं। यह रस मधुमेह रोगियों के लिए अनुशंसित नहीं किया जाता है।

@nisha checked guava juice in Hindi

Mango (Aam) : The most important role Mango has is to build our immune system by building our white blood cells (WBC) and in turn help to keep diseases like common cold and cough at bay. Another key nutrient that mango is brimming with is magnesium. This mineral along with potassium helps to in maintaining normal heart rate, relaxes the blood vessels and keeps blood pressure also under check. research shows that moderate consumption of mangoes could assist in weight loss. This is because mangoes are rich in fiber. When mango is in season, a diabetic can occasionally satisfy his/her cravings of this delicious fruit within the suggested serving size i.e. ½ mango or 2 to 3 slices. Remember to include these calories and carbs as a part of your daily meal plan. See detailed benefits of mango

आम (Benefits of Mango, Aam in Hindi): आम की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका हमारी सफेद रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) के निर्माण से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) का निर्माण करना है और बदले में यह सर्दी और खांसी जैसी बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है। आम में एक और महत्वपूर्ण पोषक तत्व है - मैग्नीशियम। पोटेशियम के साथ यह खनिज सामान्य हार्ट्बीट को बनाए रखने में मदद करता है, रक्त वाहिकाओं (ब्लड वेसल - blood vessels) को आराम देता है और रक्तचाप को भी काबू में रखता है। अनुसंधान से पता चलता है कि आम का मध्यम उपभोग वजन घटाने में सहायता कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आम फाइबर में समृद्ध होता है। जब आम का मौसम हो, तब डायबिटिस वाले कभी-कभी छोटी-सी मात्रा यानी ½ आम या 2 से 3 स्लाइस का सेवन कर सकते हैं। याद रखें कि इन कैलोरी और कार्ब्स को अपने दैनिक भोजन योजना के हिस्से के रूप में जरुर शामिल करें। आम के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked mango in Hindi

કેરી (Benefits of Mango, Aam in Gujarati): કેરીની સૌથી અગત્યની ભૂમિકા એ છે કે આપણા શ્વેત રક્તકણો (white blood cells - WBC) બનાવીને આપણી રોગપ્રતિકારક શક્તિનું (immune system) નિર્માણ કરવા અને બદલામાં સામાન્ય શરદી અને ઉધરસ જેવા રોગોને દૂર રાખવામાં મદદ કરશે. કેરીમાં હજી એક પોષક તત્વો છે - મેગ્નેશિયમ. પોટેશિયમની સાથે આ ખનિજ હૃદયના સામાન્ય દરને જાળવવામાં મદદ કરે છે, રક્ત વાહિનીઓને આરામ આપે છે અને બ્લડ પ્રેશરને પણ નિયંત્રણમાં રાખે છે. સંશોધન બતાવે છે કે કેરીનો મધ્યમ વપરાશ વજન ઘટાડવામાં મદદ કરી શકે છે. આ કારણ છે કે કેરીમાં ફાઈબર ભરપુર હોય છે. જ્યારે કેરી મોસમમાં હોય છે, ત્યારે ડાયાબિટીઝવાળા લોકો કેટલીકવાર ઓછી માત્રામાં ½ કેરી અથવા ૨ થી ૩ ચીરી કાપીને ખાઈ શકે છે. યાદ રાખી ને આ કેલરી અને કાર્બ્સ ને તમારી દૈનિક ભોજન યોજનાના ભાગ રૂપે શામેલ કરજો. કેરીના વિગતવાર ફાયદાઓ જુઓ.

@Krupali checked mango in Gujarati

Muskmelon ( Kharbooja): Muskmelon abounds in a key nutrient vitamin C, which strengthens our immune system by building our immune cells – white blood cells (WBC). These help to fight against the bacteria which usually grow within a clogged pore and shows up as acne. If you too are looking to loose weight, reach out for muskmelon. Its sweet taste is the best to turn your head to satisfy your sweet tooth. This low-fat and high antioxidant fruit holds the capacity of reducing inflammation in the body and thus protecting your arteries and in turn heart. Your diet triggers or controls acidity. The pH of muskmelon is in between 6.5 to 7. So they are considered to be almost neutral and thus help in balancing the acids of the stomach. See detailed benefits of muskmelon

खरबूजा (Benefits of Muskmelon, Kharbooja in Hindi): खरबूजे में एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व विटामिन सी होता है, जो हमारी प्रतिरक्षा कोशिकाओं जैसे कि श्वेत रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) के निर्माण से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को मजबूत करता है। ये बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ने में मदद करता है, जो आमतौर पर मुँहासे के रूप में दिखाई देते हैं। यदि आप वजन घटाने की कोशिश में हैं, तो खरबूजा जरूर खाएं। इसका मीठा स्वाद आपके मीठेपन की तीव्र इच्छा को जरूर संतुष्ट करेगा। यह एक कम वसा वाला और उच्च एंटीऑक्सिडेंट वाला फल है, जो शरीर में उत्तेजना (inflammation - इन्फ्लमेशन) को कम करने की क्षमता रखता है और इस प्रकार आपकी आर्टरी (arteries) और बदले में दिल की रक्षा भी करता है। आपका आहार एसिडिटी को ट्रिगर या नियंत्रित करता है। खरबूजे का pH 6.5 से 7 के बीच में होता है, इसलिए इसे लगभग न्यूट्रल (neutral) माना जाता है और इस तरह पेट के एसिड को संतुलित करने में यह मदद करता है। खरबूजा के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked muskmelon in Hindi

Oranges, Sweet Lime (Mosambi) Citrus fruits : These fruits are low in calorie and rich source of fiber. They are also low carb and high in Vitamic C. Oranges and Sweet Lime are rich in Vitamin A also. Read this article on benefits of citrus fruits

संतरे, मोसंबी सिट्रस फल (Benefits of Orange, Sweetlime, Citrus fruits in Hindi): यह फल कैलोरी में कम और फाइबर में समृद्ध होते हैं। यह फल कार्ब्स में कम और विटामिन सी में उच्च होते हैं। संतरे और मोसंबी विटामिन ए से भी भरपूर होते हैं।  सिट्रस फलों के लाभों के बारे में पढ़ें।

@nisha checked orange in Hindi

Papaya : Being rich in Vitamin A and Vitamin C, it helps to protect against heart diseases by oxidising the excess Cholesterol. Papaya is low in carbs and therefore does not raise blood glucose levels and relives constipation.The question is even if the glycemic index of papaya comes under medium range how this fruit is beneficial for diabetics? This is because the glycemic load of the fruit is just 6.4 for 1 cup of papaya, so diabetics should control portion size.  See detailed benefits of papaya

पपीता (Benefits of Papaya, papita in Hindi): विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर होने के कारण, पपीता अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को कम करके हृदय रोग से बचाने में मदद करता है। पपीते में कार्ब्स कम होता है और इसलिए रक्त शर्करा के स्तर को नहीं बढ़ाता है और यह कब्ज़ से राहत भी देता है। सवाल यह है कि क्या पपीता का ग्लाइसेमिक इन्डेक्स मध्यम श्रेणी में आता है, पर क्या यह फल मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है?  1 कप पपीते का ग्लाइसेमिक लोड 6.4 है, इसलिए मधुमेह रोगियों को इसका सेवन नियंत्रित मात्रा में करना चाहिए। पपीते के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked papaya in Hindi

Benefits of raw papaya : Raw papaya is picked when it is unripe and thus it has more enzymes than the ripe papaya. Its enzyme papain acts as an antioxidant and helps protect the heart. This enzyme is also known and aid in digestion. It is known as a laxative and helps to relieve constipation. It helps to cleanse our body, reduce the toxin level and delays the onset of ageing. It is exceptionally a good source of vitamin A – a nutrient which is necessary for good vision and a glowing skin. With plentiful of vitamin C, raw papaya is an immune boosting vegetable too. Being low on calorie count, it is a boon for weight watchers. Its phytochemicals compounds possess anti-inflammatory properties. 

कच्चा पपीता (Benefits of Raw Papaya, papita in Hindi): कच्चा पपीता तब काटा जाता है जब यह पूरा पका नहीं होता है और इस प्रकार इसमें पके पपीते की तुलना में अधिक एंजाइम होते हैं। इसका एंजाइम पपैन एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है और हृदय की रक्षा करने में मदद करता है। यह एंजाइम पाचन में सहायता करने के लिए भी जाना जाता है। यह एक रेचक के रूप में जाना जाता है और कब्ज को दूर करने में भी मदद करता है। यह हमारे शरीर को शुद्ध करने में मदद करता है, विष स्तर को कम करता है और उम्र बढ़ने की शुरुआत में देरी करता है। यह असाधारण रूप से विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत है - एक पोषक तत्व जो अच्छी दृष्टि और चमकती त्वचा के लिए आवश्यक होता है। विटामिन सी की भरपूर मात्रा के साथ, कच्चा पपीता एक प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली सब्जी है। कैलोरी काउंट में कम होने के कारण यह वेट वॉचर्स के लिए वरदान है। इसके फाइटोकेमिकल्स यौगिकों में ऐन्टी-इन्फ्लमेशन (anti-inflammation) गुण होते हैं।


@nisha checked raw papaya in Hindi

Pears (Nashpati) : Pears are an excellent source of fiber (7.3 g / cup). Fiber has key role in easy bowel movements and avoiding constipation. Pears are high in vitamin C, which enhances our line of defense against diseases by building white blood cells (WBC). These cells help us fight common bacterial and viral infections. Such high fiber and low glycemic index fruits like pears help to release the sugar in the bloodstream slowly. Pear is a fairly good source of potassium and magnesium which have a significant positive impact on heart. The presence of pectin fiber in pear is the secret nutrient to support heart health. It helps to lower the cholesterol levels in the body. See detailed benefits of pears

नाशपाती (Benefits of Pear, Nashpati in Hindi): नाशपाती फाइबर (7.3 ग्राम / कप) का एक उत्कृष्ट स्रोत है।  कब्ज टालने में फाइबर की महत्वपूर्ण भूमिका है। नाशपाती विटामिन सी में उच्च होता है, जो सफेद रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) का निर्माण करके रोगों के खिलाफ हमारी सुरक्षा करती है। ये कोशिकाएं आम बैक्टीरिया और वायरल संक्रमणों से लड़ने में हमारी मदद करती हैं। नाशपाती जैसे उच्च फाइबर और कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फल रक्तप्रवाह में चीनी को धीरे-धीरे छोड़ने में मदद करते हैं। नाशपाती पोटेशियम और मैग्नीशियम का भी काफी अच्छा स्रोत है, जो हृदय पर महत्वपूर्ण सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। नाशपाती में पेक्टिन फाइबर की मौजूदगी दिल की सेहत का समर्थन करने वाला गुप्त पोषक तत्व है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। नाशपाती के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked pear in Hindi

Pineapple (Ananas) : Packed with vitamin C (64.7 mg / cup), pineapple is one such fruit which boosts immunity. They help build our line of defence against diseases by building white blood cells (WBC). It is known for its laxative effect and overcome or prevent constipation. Pineapple is a rich source of Magnesium (54.8 mg / cup) which has a role to play in heart health. By reducing inflammation it helps to relieve the joint pain related to arthritis. Cons : Pineapple as a sole snack would not be recommended for diabetics. Paired with other high fiber and low glycemic index fruits, you can include it in small portions. Pineapple is not very low in calories nor carbs and hence not good for weight loss. See detailed benefits of pineapple

अनानास (Benefits of Pineapple, Ananas in Hindi): विटामिन सी (64.7 मिलीग्राम / कप) से भरपूर, अनानास एक ऐसा फल है जो प्रतिरक्षा (immunity) को बढ़ाता है। ये श्वेत रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) का निर्माण करके रोगों के खिलाफ हमारी सुरक्षा में मदद करता है। यह अपने लैक्सटिव (laxative) प्रभाव से कब्ज को दूर करने या रोकने के लिए जाना जाता है। अनानास मैग्नीशियम (54.8 मिलीग्राम / कप) का एक समृद्ध स्रोत है, जिसकी हृदय स्वास्थ्य में भूमिका होती है। शरीर में उत्तेजना (inflammation - इन्फ्लमेशन) को कम करके यह गठिया से संबंधित जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। अवगुण: एकमात्र स्नैक के रूप में अनानास मधुमेह रोगियों के लिए अनुशंसित नहीं किया जा सकता। अन्य उच्च फाइबर और कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स फलों के साथ जोड़कर, आप इसे छोटी मात्रा में भोजन में शामिल कर सकते हैं। अनानास कैलोरी में बहुत कम नहीं होता और न ही कार्ब्स में और इसलिए वजन घटाने के लिए भी बहुत अच्छा विकल्प नहीं है। अनानास के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked pineapple in Hindi

 

Pineapple juice: Packed with vitamin C, pineapple juice is one such fruit which boosts immunity. They help build our line of defence against diseases by building white blood cells (WBC). But pineapple juice has most of the fibre strained discarded. Also pineapple juice is considered to be high in carbs, so we would not recommend it to diabetics

अनानास का रस (health benefits of pineapple juice): अनानास का रस विटामिन सी से भरपूर होता है, जो प्रतिरक्षा (immunity) को बढ़ाता है।  ये श्वेत रक्त कोशिकाओं (white blood cells - WBC) का निर्माण करके रोगों के खिलाफ हमारी सुरक्षा में मदद करता है। लेकिन अनानास के जूस में ज्यादातर फाइबर को छान दिया जाता है। साथ ही अनानास के रस में कार्ब्स की मात्रा अधिक होती है, इसलिए हम मधुमेह रोगियों को इसकी सलाह नहीं देंगे।

@nisha checked pineapple juice.

 

Pineapple puree: Pineapple puree is usually made with a lot of sugar and also the dishes in which it is added are often calorie laden. Thus, though it has appreciable amounts of vitamin C, the use of sugar doesn't qualify it as a completely healthy food choice. 

अनानस की प्यूरी (health benefits of Pineapple puree): अनानस की प्यूरी आमतौर पर बहुत अधिक चीनी के साथ बनाई जाती है और जिन व्यंजनों में इसे जोड़ा जाता है वे भी अक्सर कैलोरी से भरे होते हैं। इस प्रकार, हालांकि इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी है, पर चीनी का उपयोग इसे पूरी तरह से स्वस्थ भोजन विकल्प के रूप में योग्य नहीं बनाता है।

@nisha checked pineapple puree.

Pomegranate, Anar : Pomegranate has anti-inflammatory properties. Pomegranate is considered as a heart-healthy fruit. Pomegranates contain nitrates which are shown to improve exercise performance. A study conducted on athletes stated that pomegranates if taken 30 minutes before exercise, significantly enhances the blood flow to the exercising muscles. High in vitamin C, a good source of fiber and low in calories, pomegranate juice contains antioxidants that will help to protect your blood lipids from oxidation and good for heart. See detailed benefits of pomegranate

अनार (Benefits of Pomegranate, Anar in हिंदी): अनार में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। अनार को हृदय-स्वस्थ फल माना जाता है। अनार में नाइट्रेट होते हैं जो व्यायाम प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए माने जाते हैं। एथलीटों पर किए गए एक अध्ययन में कहा गया है कि अगर व्यायाम से 30 मिनट पहले अनार लिया जाता है, तो यह व्यायाम करने वाली मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह को काफी बढ़ाता है। विटामिन सी में उच्च, फाइबर का एक अच्छा स्रोत और कैलोरी में कम, अनार के रस में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो आपके रक्त में लिपिड को ऑक्सीकरण से बचाते हैं और दिल के लिए यह अच्छा होता है। अनार के विस्तृत लाभ पढें।

@nisha checked pomegranate in Hindi

Pomegranate juice: Pomegranate juice contains polyphenols, tannins and anthocyanins - these are beneficial antioxidants which helps to protect the heart and other organs of the body. Pomegranate juice is also high in vitamin C,  a nutrient which helps to build our immunity and fight against infection. But pineapple juice has most of the fibre strained discarded. Also pomegranate juice is considered to be high in carbs, so we would not recommend it to diabetics

अनार का रस (health benefits of pomegranat juice): अनार के रस में पॉलीफेनोल्स, टैनिन और एंथोसायनिन होते हैं - ये लाभकारी एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो हृदय और शरीर के अन्य अंगों की रक्षा करने में मदद करते हैं। अनार के रस में विटामिन सी की मात्रा भी अधिक होती है, जो एक पोषक तत्व है जो हमारी प्रतिरक्षा को बनाने और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। लेकिन अनानास के जूस में ज्यादातर फाइबर को छान दिया जाता है। साथ ही अनार के रस को कार्ब्स में उच्च माना जाता है, इसलिए हम मधुमेह रोगियों को इसकी सलाह नहीं देंगे।

@nisha checked pomegranate juice in hindi

Strawberries : Strawberries are chock-full of a phytonutrients, which are good antioxidants and reduce body inflammation. This pink-red coloured fruit abounds in vitamin C. You will be surprised that a cup of strawberry is enough to fulfills your day’s requirement of vitamin C, which helps in building a healthy immune system and keeping all types of infections away. These high vitamins C count benefits in preventing cancer and also fighting the existing the cancer cells if any. Strawberries are a rich source of potassium and magnesium, which helps in lowering blood pressure. With a glycemic index 41, they can be added in limited quantity to a diabetic meal too. Moreover they are a very good source of fiber too. A cup of strawberry yields 4.6 g of fiber, which is a boon for weight loss.

स्ट्रॉबेरी (Benefits of Strawberries in Hindi): स्ट्रॉबेरी फाइटोन्यूट्रिएंट से भरपूर है, जो अच्छे एंटीऑक्सिडेंट हैं और शरीर की उतेजना (inflammation - इन्फ्लमेशन) को कम करते हैं। यह गुलाबी-लाल रंग का फल विटामिन सी में भी समृद्ध है। आपको आश्चर्य होगा कि स्ट्रॉबेरी का एक कप आपके दिन के विटामिन सी की आवश्यकता को पूरा करने के लिए पर्याप्त है, जो स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली के निर्माण और सभी प्रकार के संक्रमणों को दूर रखने में मदद करता है। ये उच्च विटामिन सी कैंसर को रोकने में लाभदायक है और मौजूदा कैंसर कोशिकाओं से लड़ने में भी इसकी गिनती होती है। स्ट्रॉबेरी पोटेशियम और मैग्नीशियम का एक समृद्ध स्रोत है, जो रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स 41 है इसलिए इसे सीमित मात्रा में एक मधुमेह भोजन में भी जोड़ा जा सकता है। इसके अलावा ये फाइबर का एक बहुत अच्छा स्रोत भी है। एक कप स्ट्रॉबेरी से 4.6 ग्राम फाइबर मिलता है, जो वजन घटाने के लिए वरदान है।

@nisha checked strawberries in Hindi

Watermelon  (tarbuj) : Watermelon is low in calories and full of water, thus is good for weight loss too. Citrulline in watermelon has been studied for its effect on heart function and it was revealed that it improves heart function and helps in the treatment of heart failure. Watermelons are a good source of Vitamin C and vitamin A which help in neutralizing free radicals thereby reducing the risk of heart disease. Watermelons are incredibly high in Iron and help in the treatment of anaemia. See detailed 14 benefits of watermelon, tarbuj.

तरबूज (Benefits of Watermelon, tarbuj in Hindi):  तरबूज कैलोरी में कम और पानी से भरा होता है, इसलिए यह वजन घटाने के लिए अच्छा माना जाता है। तरबूज में सिट्रूलीन (Citrulline) होता है, जो हृदय कार्य में सुधार करता है और हृदय की विफलता के उपचार में भी मदद करता है। तरबूज विटामिन सी और विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत है, जो मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करता है जिससे हृदय रोग का खतरा कम होता है। तरबूज आयरन में अविश्वसनीय रूप से उच्च होते हैं और एनीमिया के उपचार में मदद करते हैं। तरबूज के 14 विस्तृत लाभ  पढें।

@nisha checked watermelon in Hindi
 
તરબૂચ (Benefits of Watermelon, tarbuj in Gujarati): તરબૂચમાં કેલરી ઓછી હોય છે અને પાણી ભરેલું હોય છે, આમ તે વજન ઘટાડવા માટે પણ સારું છે. તરબૂચમાં સિટ્રુલીન (Citrulline) હોય છે, જે હૃદયના કાર્યમાં સુધાર કરે છે અને હૃદયની નિષ્ફળતાના ઉપચારમાં પણ મદદ કરે છે. તરબૂચ એ વિટામિન સી અને વિટામિન એ નો સારો સ્રોત છે જે મુક્ત રેડિકલને તટસ્થ કરવામાં મદદ કરે છે જેના દ્વારા હૃદય રોગનું જોખમ ઓછું થાય છે. તરબૂચમાં લોહનું પ્રમાણ અતિશય વધારે છે અને તે એનિમિયાના ઉપચારમાં મદદ કરે છે. તરબૂચના વિગતવાર 14 ફાયદાઓ જુઓ.
 
@Krupali checked watermelon in Gujarati

Note that our parathas are cooked with 1 tsp oil or ghee and rotis are cooked in 1/2 teaspoon oil. We have taken into account these calories while computing total calories for each recipe.

What is a healthy Indian roti to have with Dal?

Combine the methi toovar dal recipe with a bajra roti, jowar roti and whole wheat roti to make a healthy combination. Note that when you combine any dal with any cereal ( bajra, jowar, ragi, whole wheat ) then the protein quality is enhanced.

What you should not have Rajma and urad dal with?

We all love Rajma and urad dal with chawal. But, rice will cause a spike in your blood sugar levels and make it now unhealthy for diabetics. So if you have a health issue, then read is white rice good for you? If you are healthy, then we suggest to have more rajma and urad dal and less white rice. 

8 Pointers to get healthy on a Indian diet

1. Eat healthy and say yes to good home cooked food. Prefer whole grains like oatmeal, quinoa, buckwheat, barley and healthy flours like bajra flour, jowar flour, quinoa flour, wheat flour etc. rather than refined ones like maida. Have healthy Indian fats like ghee, coconut, coconut oil in your diet. 

2. Opt out of junk food, packaged food, deep fried foods. Prefer steamed snacks and other non-fried snacks. Check out some Healthy Indian Snacks. Remember to eat small frequent meals through the day as that will keep you always full and prevent your blood sugar from dropping. By starving your body through some diet, will not help you one bit. In fact, dieting will make you binge on 2 to 3 meals which is not good. 

Skip having Indian junk foods like pav bhaji, bata vada, pakoras, gulab jamun as they cause your body to have insulance resistance. The resultant is your body will store more carbohydrates as fats, causing storage of fat in the stomach causing a paunch and slowing down of our fat burning process. So its a bad cyle which causes you more more hunger and fatigue every time you eat junk food. 

3. Have 4 to 5 servings of vegetables and 2 to 3 servings of fruit is a must. Follow the logic of a vegetable in each main meal of the day and a fruit in-between meals. Check out a few Healthy Indian Soups and Healthy Indian Salads  recipes using this food group.           

4. Cut down on sugar and salt in your diet and pick honey ( very small amounts) or dates to sweeten your food. Slowly cut the sugar habit as this is not going to happen over night. Sugar  is also called white poison. It is a simple carbohydrate with zero nutritional value. On intake, sugar will cause inflammation of the body which will last for many hours. It will spike your blood sugar level and shut down the fat burning process. This also causes high blood sugar levels in your body. The development of prediabetes comes from uncontrolled eating sugar and refined food products for many years and the classic symptom is if you have excess belly fat. This leads to diabetes and further onwards to heart attack, high blood pressure, strokes, impotence and kidney damage. 

Salt and blood pressure. Apart from stress and obesity, one of the main reasons for high blood pressure is excessive sodium and salt intake. Most people find it difficult to limit the amount of salt in their cooking, thinking it will affect the taste of their favourite dishes. 

This is not true. Bajra and jowar are rich in potassium and critical for those with High Blood Pressure as it lessens the impact of sodium. Eating more Potassium Rich Foods will remove more sodium from your body through urine. So include the basic bajra roti and jowar roti in your daily diet to have with Lower Blood Pressure Subzis Recipes

5. Befriend a few healthy seeds and nuts like chia seeds, flax seeds, sesame seeds, walnuts and almonds. Stress. The easiest way to kill your immune system is chronic stress. 

6.  Sprouts are called ‘living food’. They are high is most nutrients and easy to digest as well. Let them feature in your meals at least thrice a week. Also Read : All Benefits about Sprouts

7.  Exercise 45 minutes every day. No excuse. You can walk fast, run, do weights, play your favourite sport or go to the gym. No activity reduces muscle tissue which will lead to muscke loss and all kinds of problems with that. Workout builds immunity and keeps virus or bugs away. 

8.  Sleep early and get up early. Get your body into rhythm and it will function best. Sleep helps your body to recover and makes you look much younger. Also getting good sleep prevent muscle loss, builds immunity and keeps virus or bugs away.

भारतीय आहार स्वस्थ बनाने के लिए 8 संकेत

1. स्वस्थ खाओ (eat healthy) स्वस्थ भोजन करें और अच्छा घर का बना खाना खाएं। दलिया, बक्वीट, जौ, क्विनोआ जैसे अनाज कोप्राथमिकता दें | मैदे जैसे परिष्कृत आटे का सेवन न करें। स्वस्थ आटा जैसे बाजरे का आटा, ज्वार का आटा, क्विनोआ का आटा, गेहूं का आटाचुनें | अपने आहार में घी, नारियल, नारियल के तेल जैसे स्वस्थ भारतीय वसा लें।

2. जंक फूड, पैकिज्ड फूड, तला हुआ भोजन न खाएं (avoid junk food) कुछ हेल्दी इंडियन स्नैक्स देखें दिनभर  छोटे-छोटे भोजन का सेवनकरें क्योंकि यह आपको हमेशा भरा हुआ रखेगा और आपकी रक्त शर्करा को गिरने से रोकेगा। कम आहार के सेवन से आपके शरीर को भूखारखकर, आप तनिक भी मदद नहीं करेंगे। वास्तव में, ऐसा परहेज़ आपको 2 से 3 भोजन तक सीमित बना देगा, जो आपके के लिए अच्छा नहीं है।

3. सब्जियों  की 4 से 5 सर्विंग और फल की 2 से 3 सर्विंग का सेवन करना चाहिए। दिन के प्रत्येक मुख्य भोजन में सब्जी का तर्क और भोजन केबीच में एक फल का पालन करें। इस खाद्य समूह का उपयोग करके कुछ स्वस्थ भारतीय सूप और स्वस्थ भारतीय सलाद व्यंजनों की जाँच करें।

4. अपने आहार में चीनी और नमक को कम करें । और अपने भोजन को मीठा करने के लिए शहद (बहुत कम मात्रा में) या खजूर लें। धीरे-धीरेचीनी की आदत में कटौती करें क्योंकि यह एक रात में नहीं होने वाला है। चीनी को सफेद जहर भी कहा जाता है। यह शून्य पोषण मूल्य के साथएक सरल कार्बोहाइड्रेट है। सेवन करने पर, चीनी शरीर की सूजन का कारण बनेगी जो कई घंटों तक चलेगी। यह आपके रक्त शर्करा के स्तर कोबढ़ाएगी और वसा जलने की प्रक्रिया को बंद कर देगा। प्रीडायबिटीज का विकास अनियंत्रित चीनी और परिष्कृत खाद्य उत्पादों को कई वर्षों तकखाने से होता है और यदि आपके पास अतिरिक्त वसा है तो क्लासिक लक्षण है। इससे मधुमेह और आगे चलकर दिल का दौरा, उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक, नपुंसकता और गुर्दे की क्षति होती है।

नमक और रक्तचाप। तनाव और मोटापे के अलावा, उच्च रक्तचाप का एक मुख्य कारण अत्यधिक सोडियम और नमक का सेवन है। अधिकांशलोगों को अपने खाना पकाने में नमक की मात्रा को सीमित करना मुश्किल लगता है, यह सोचकर कि यह उनके पसंदीदा व्यंजनों के स्वाद कोप्रभावित करेगा।

यह सच नहीं है। बाजरे और ज्वार उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए पोटेशियम से भरपूर और महत्वपूर्ण नुस्खा है क्योंकि यह सोडियम के प्रभावको कम करता है। अधिक पोटेशियम रिच फूड्स खाने से आपके शरीर से मूत्र के माध्यम से अधिक सोडियम निकल जाएगा। इसलिए लो ब्लडप्रेशर सब्ज़ि रेसिपी के साथ अपने दैनिक आहार में बाजरे की रोटी और ज्वार की रोटी शामिल करें।

5. चिया बीज, सूरजमूखी के बीज, तिल के बीज, अखरोट और बादाम जैसे कुछ स्वस्थ बीज और नट्स से दोस्ती करें। तनाव। आपकीप्रतिरक्षा प्रणाली को मारने का सबसे आसान तरीका क्रोनिक तनाव है।

6. स्प्राउट्स को 'जीवित भोजन' कहा जाता है। वे उच्च हैं अधिकांश पोषक तत्व हैं और साथ ही पचाने में आसान हैं। हफ्ते में कम से कम तीनबार उन्हें अपने भोजन में शामिल करें। Also Read: स्प्राउट्स के बारे में सभी फायदे |

7. हर दिन 45 मिनट व्यायाम करें। कोई बहाना नहीं। आप तेजी से चल सकते हैं, दौड़ सकते हैं, अपना पसंदीदा खेल खेल सकते हैं या जिम जासकते हैं। कोई भी गतिविधि मांसपेशियों (muscle) के ऊतकों को कम नहीं करती है जो मांसपेशियों को नुकसान दे और उस के साथ कई औरप्रकार की समस्याओं भी।वर्कआउट इम्युनिटी बनाता है और वायरस या बग को दूर रखता है।

8. जल्दी सोएं और जल्दी उठें। अपने शरीर को लय में लें और यह सबसे अच्छा काम करेगा। नींद आपके शरीर को ठीक होने में मदद करती है।इसके अलावा अच्छी नींद लेने से मांसपेशियों (muscle) की क्षति को रोका जा सकता है, प्रतिरक्षा बनाता है और वायरस या कीड़े को दूर रखताहै |

@Nisha has check the 8 points

===========

Indian Spices

Hing ( Asafoetida) The active compound 'coumarin' helps in managing blood cholesterol and triglyceride levels. Asafoetida is known to have anti-bacterial properties, which helps to keep asthma at bay. Asafoetida is an age-old remedy for bloating and other stomach problems like flatulence. The best solution is to gulp down little hing with water or dissolve it in water and sip it. It can also be used along with curd or almond oil as a hair mask. It helps to prevent dryness of hair and smoothen as well as strengthen hair.

हिंग (Benefits of Asafoetida, hing in Hindi): ऐक्टिव कम्पाउन्ड कौमरिन (Coumarin) रक्त में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करता है। हींग में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो अस्थमा को दूर रखने में मदद करता है। हींग  ब्लोटिंग और पेट में गैस की तकलीफ जैसी अन्य समस्याओं के लिए एक पुराना उपचार है। सबसे अच्छा उपाय यह है कि पानी के साथ थोड़ा सा हींग का पानी पिएं या इसे पानी में घोलकर घूंट-घूंट पीते रहे। इसका उपयोग दही या बादाम के तेल के साथ हेयर मास्क के रूप में भी किया जा सकता है। यह बालों की शुष्कता को रोकने और बालों को मजबूत बनाने के साथ-साथ उन्हें मुलायम बनाने में मदद करता है।

@nisha checked asafoetida in hindi

Star Anise : Star anise is a star shaped spice used in Indian cooking. It has great immunity boosting properties to fight viral infections. The best way to have it is by boiling it in hot water for 5 minutes and then letting it steep to absorb the flavour. Drink as is as a healthy Indian drink or dip your green tea bag into it. Star anise has shikimic acid in it which is used by pharma companies to make anti viral drugs to cure infections.

स्टार एनीज़ (Benefits of Star Anise, Chakri phool in Hindi): चक्र फूल एक स्टार के आकार का मसाला है जो भारतीय खाना पकाने में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें वायरल संक्रमण से लड़ने के लिए महान प्रतिरक्षा बढ़ाने के गुण होते हैं। इसका उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि इसे 5 मिनट तक गर्म पानी में उबालें और फिर इसे थोडी देर रहने दें। एक स्वस्थ भारतीय पेय के रूप में पीएं या अपने ग्रीन टी बैग को इसमें डुबोएं। स्टार एनीज़ में शिकीमिक एसिड (shikimic acid) होता है जिसका इस्तेमाल फार्मा कंपनियां संक्रमणों को ठीक करने के लिए एंटी वायरल ड्रग्स बनाने के लिए करती हैं।

@nisha checked star anise in hindi

 

Dry Coconut (Kopra) : Coconut meat that has been dried or desiccated is very concentrated and has a low moisture content, which is the reason it has the highest total fat and saturated fat content. Foods rich in total fat and saturated fat have been identified as potential risk factors in the development of a variety of diseases of lifestyle, such as heart disease, certain cancers, obesity and diabetes. Good points - No cholesterol, Very low in sodium, High in manganese.

Benefits of Cloves, laung, lavang : India's traditional Ayurvedic healers since ancient times cloves as a whole have been used to treat digestive ailments and its oil for toothache. In either form its active compound ‘eugenol’ is the main highlight which has been shown to act as an antioxidant. It has the ability to kill micro-organisms like the bacteria and help overcome cold and cough. When boiled with water and gargled, cloves are a good antibacterial mouthwash, which can help to combat bad breath and relieve a sore throat. Clove Tea is known to be one of the most common home remedy to relieve congestion. Clove oil applied on head is known to relieve headache is some people. A few drops of clove oil applied on acne may help to treat it.

लौंग (health benefits of cloves, laung, lavang): प्राचीन काल से भारत के पारंपरिक आयुर्वेदिक उपचारकर्ता लौंग का उपयोग पाचन संबंधी बीमारियों के लिए और इसके तेल का उपयोग दांत दर्द के लिए किया गया है। किसी भी रूप में इसका सक्रिय यौगिक 'यूजेनॉल' मुख्य आकर्षण है जिसे एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करने के लिए जाना जाता है। इसमें बैक्टीरिया जैसे सूक्ष्म जीवों को मारने और सर्दी और खांसी को दूर करने में मदद करने की क्षमता है। जब पानी के साथ उबाला जाता है और कुल्ला किया जाता है, तो लौंग एक अच्छा जीवाणुरोधी माउथवॉश होता है, जो सांसों की दुर्गंध से निपटने और गले की खराश से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। लौंग की चाय कंजेशन से राहत पाने के सबसे आम घरेलू उपचारों में से एक मानी जाती है। लौंग के तेल को सिर पर लगाने से कुछ लोगों को सिरदर्द से राहत मिलती है। लौंग के तेल की कुछ बूंदों को मुंहासों पर लगाने से इसका इलाज करने में मदद मिल सकती है।

@nisha checked cloves in hindi

લવિંગના ફાયદા (health benefits of cloves, laung, lavang): પ્રાચીન કાળથી ભારતના પરંપરાગત આયુર્વેદિક ઉપચાર કરનારાઓ સમગ્ર રીતે લવિંગનો ઉપયોગ પાચક રોગો અને દાંતના દુખાવા માટે તેના તેલનો ઊપયોગ કરવામાં આવે છે. કોઈપણ સ્વરૂપમાં તેનું સક્રિય સંયોજન 'યુજેનોલ' મુખ્ય આકર્ષણ છે જે એન્ટીઑકિસડન્ટ તરીકે કાર્ય કરે છે. તેમાં બેક્ટેરિયા જેવા સૂક્ષ્મજીવોને મારી નાખવાની ક્ષમતા છે અને શરદી અને ઉધરસને દૂર કરવામાં પણ મદદ કરે છે. જ્યારે તેને પાણી સાથે ઉકાળવામાં આવે છે અને ગાર્ગલ કરવામાં આવે છે, ત્યારે લવિંગ એક સારું એન્ટીબેક્ટેરિયલ માઉથવોશ બને છે, જે ખરાબ શ્વાસ સામે લડવામાં અને ગળાના દુખાવામાં રાહત આપવામાં મદદ કરે છે. લવિંગની ચા કન્જેસ્ચન દૂર કરવા માટે સૌથી સામાન્ય ઘરેલું ઉપાય તરીકે જાણીતી છે. કેટલાક લોકો લવિંગનું તેલ માથા પર લગાવાથી માથાના દુખાવામાં રાહત મળે છે. ખીલ પર લગાવવામાં આવેલા લવિંગ તેલના થોડા ટીપાં તેની સારવારમાં મદદ કરી શકે છે.

@krupali checked cloves in gujarati

 

Poppy sseds: Poppy seeds are a good source of certain nutrients like protein, fibre, calcium and magnesium. They are known to have a calming effect and cure insomnia when consumed with milk. However, always remember that they contain opium compounds which are narcotic and can cause great harm if used without proper advice and precautions. Consuming large quantities for a long time might lead to dependency on it. It should be not given to infants, children and pregnant ladies. 

खसखस (Benefits of Poppy seeds) :  खसखस प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे कुछ पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत है। दूध के साथ सेवन करने पर वे शांत प्रभाव डालते हैं और अनिंद्रा को ठीक कर सकते हैं। पर, हमेशा याद रखें कि उनमें अफीम यौगिक होते हैं जो मादक होते हैं और अगर उचित सलाह और सावधानियों के बिना उपयोग किए जाते हैं तो यह बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। लंबे समय तक बड़ी मात्रा में सेवन करने से इस पर निर्भरता हो सकते हैं। यह शिशुओं, बच्चों और गर्भवती महिलाओं को नहीं दिया जाना चाहिए।

@nisha checked benefits of poppy seeds

 

Benefits of Bayleaf (Tejpatta) : The properties of bayleaves make it useful for treating high blood sugar, migraine headaches, bacterial and fungal infections, and gastric ulcers.  Bay leaves and berries have been used for their astringent, carminative, diaphoretic, digestive, diuretic, emetic and stomachic properties.  Bayleaf contains eugenol, which has anti-inflammatory and antioxidant properties. Bay leaf is also antifungal and antibacterial. Traditionally, it has been used to treat rheumatism, amenorrhea, and colic pains.

Benefits of Peach : Peaches are not very high in calories and a good source of fibre. Thus they have a good satiety value. You can have them in between meals while on weight loss regime. The fibre also helps to maintain a healthy digestive tract. Thanks to the low sodium count and high in potassium, that they are considered heart friendly and can be included by people with high blood pressure. One medium peach is a wise addition to a diabetic diet too. All they need to do is count these carbs as a part of their day’s intake and balance it through the day. Peaches have fair amounts of vitamin C which along with other phenolic compounds may form a line of defence against various diseases including cancer. Moreover, the vitamin C helps promote skin health.

 

पीच (Benefits of peach in Hindi) : पीच कैलोरी में बहुत अधिक नहीं होते हैं और फाइबर का एक अच्छा स्रोत होते हैं। इसलिए इनके पास एक अच्छा तृप्ति मूल्य होता है। आप उन्हें वजन घटाने के भोजन में शामिल कर सकते हैं। फाइबर स्वस्थ पाचन तंत्र को बनाए रखने में भी मदद करता है। सोडियम की कम मात्रा और पोटेशियम में उच्च होने के कारण इन्हें हृदय के अनुकूल माना जाता है और उच्च रक्तचाप वाले लोगों द्वारा भी चयन किया जा सकता है। एक मध्यम पीच एक मधुमेह आहार के लिए भी एक उत्तम उपाय है। उन्हें बस इसके कार्ब्स को अपने दिन के सेवन के हिस्से के रूप में गिनना चाहिए और दिन भर के कार्ब्स को संतुलित करना चाहिए। पीच में उचित मात्रा में विटामिन सी होता है जो अन्य फेनोलिक यौगिकों के साथ मिलकर कैंसर सहित विभिन्न रोगों से बचाव कर सकता है। इसके अलावा, विटामिन सी त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में भी मदद करता है।

@nisha checked peach in hindi

 

Fresh apricot: Fresh apricot is rich in natural sugars, vitamin A and vitamin C. These key vitamins are essential for healthy skin and vision. Not being high in sodium and being a good source of potassium, it can be enjoyed by people with high blood pressure. The small quantity of fibre it lends, can be beneficial for heart and also help in promoting gut health. One apricot is less than 30 calories and with all the other nutrient it offers it can form a part of a weight loss menu too. 

ताजा खुबानी (health benefits of fresh apricot): ताजा खुबानी प्राकृतिक शर्करा, विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर होते हैं। ये प्रमुख विटामिन स्वस्थ त्वचा और दृष्टि के लिए आवश्यक माने जाते हैं। सोडियम में उच्च नहीं होने और पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत होने के नाते, उच्च रक्तचाप वाले लोगों द्वारा इनका आनंद लिया जा सकता है। थोडी सी मात्रा फाइबर की जो इससे मिलती है वह दिल के लिए फायदेमंद हो सकती है और पाचन में भी मदद कर सकती है। एक खुबानी में 30 से कम कैलोरी होती है और अन्य सभी पोषक तत्वों के साथ यह एक वजन घटाने के मेनू का हिस्सा भी बन सकते हैं।

 

Dried apricot: Dried apricot have all the moisture removed and thus they are high in calories as compared to the fresh apricots. Thus weight watchers need to monitor the quantity of dried apricots they have. They are a good source of fibre, but also high in carbs and so diabetics should avoid or strictly limit its consumption. They are a good source of few nutrients like potassium which helps to promote muscle and nerve function. Potassium also helps to maintain electrolyte balance in the body. The calcium in it can help strengthen bones. The fibre pectin in dried apricots can help prevent and overcome constipation.

सूखे खुबानी (health benefits of dried apricot): सूखे खुबानी में से नमी को हटा दिया गया होता है और इस प्रकार वे ताजा खुबानी की तुलना में कैलोरी में उच्च होते हैं। इस प्रकार वजन पर नजर रखने वालों को सूखे खुबानी की मात्रा के सेवन पर निगरानी रखने की आवश्यकता होती है। वे फाइबर का एक अच्छा स्रोत हैं, लेकिन कार्ब्स में भी उच्च हैं और इसलिए मधुमेह रोगियों को इसके सेवन नहीं करना चाहिए या सख्ती से सीमित करना चाहिए। वे पोटेशियम जैसे कुछ पोषक तत्वों का भी एक अच्छा स्रोत हैं जो मांसपेशियों और तंत्रिका कार्यों को बढ़ावा देने में मदद करता है। पोटेशियम शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने में भी मदद करता है। इसमें मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। सूखे खुबानी में फाइबर पेक्टिन कब्ज को रोकने और दूर करने में मदद कर सकता है।

@nisha checked dried apricot

Raw mangoes, Kacchi kairi: Raw mangoes, called as kacchi kairi, are rich source of Vitamin C, thus it is helpful in building immunity and fighting against diseases, adding glow to your skin, cure bleeding gums and maintaining hair health. Being low in calories, they help boost metabolism and can be consumed by weight watchers. The fibre in it makes it an acceptable choice for heart patients too. Raw mangoes are a fair source of vitamin A, potassium and B vitamins. Eating raw mango with salt helps to overcome thirst, beat sunstroke and maintains electrolyte balance. In tropical countries, raw mango pulp with sugar, water and cardamom is consumed to keep the body cool.

कच्चे आम, कच्ची कैरी (health benefits of raw mangi, kacchi kairi):  कच्चे आम को कच्ची कैरी कहा जाता है। यह विटामिन सी का समृद्ध स्रोत है, इस प्रकार यह प्रतिरक्षा को मजबूत बनाने और बीमारियों से लड़ने, आपकी त्वचा में चमक जोड़ने, मसूड़ों से रक्तस्राव को ठीक करने और बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायक होता है। कैलोरी में कम होने के कारण, वे चयापचय को बढ़ावा देने में मदद करते हैं और वजन पर नजर रखने वालों द्वारा इसका सेवन किया जा सकता है। इसमें मौजूद फाइबर इसे हृदय रोगियों के लिए भी एक स्वीकार्य विकल्प बनाता है। कच्चे आम विटामिन ए, पोटेशियम और बी विटामिन का भी एक उचित स्रोत हैं। कच्चे आम को नमक के साथ खाने से प्यास पर काबू पाने में मदद मिलती है, सनस्ट्रोक को हराया जा सकता है और इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाया रख जा सकता है। उष्णकटिबंधीय देशों में, शरीर को ठंडा रखने के लिए चीनी, पानी और इलायची के साथ कच्चे आम के पल्प का सेवन किया जाता है।

@nisha checked raw mango

 

Raisins, kishmish: The fibre in raisins in known to relieve constipation due to their laxative effect. They are low in calories as compared to other dry fruits, so they can be used in small quantities as a substitute to refined sugar to satisfy sweet tooth. However too much consumption may lead to weight gain. The presence of polyphenolic compounds can maintain heart health, boost immunity and prevent the onset of cancer. These phenols also add elasticity and glow to the skin by fighting harmful free radicals. Their high potassium count may help in managing blood pressure and reduce the risk of hypertension.

किशमिश (health benefits of raisins, kishmish): किशमिश में मौजूद फाइबर अपने रेचक प्रभाव के कारण कब्ज को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। अन्य सूखे मेवों की तुलना में वे कैलोरी में कम होते हैं, इसलिए मीठे स्वाद को संतुष्ट करने के लिए उन्हें परिष्कृत चीनी के विकल्प के रूप में कम मात्रा में इस्तेमाल किया जा सकता है। पर इसके अधिक सेवन से वजन बढ़ सकता है। पॉलीफेनोलिक यौगिकों की उपस्थिति हृदय स्वास्थ्य को बनाए रख सकती है, प्रतिरक्षा को बढ़ा सकती है और कैंसर की शुरुआत को रोक सकती है। ये फिनोल हानिकारक मुक्त कणों से लड़कर त्वचा में लोच और चमक भी जोड़ते हैं। उनकी उच्च पोटेशियम गिनती रक्तचाप को प्रबंधित करने और उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है।

@nisha checked raisins in hindi

5 spice powder: While there is no known benefit of 5 spice powder, each of the spices used in the powder has its own health benefits. The active compound eugenol in clove and antioxidant in cinnamon helps to reduce the oxidative stress in the body by helping ward off the free radicals. Cinnamon is also known to manage blood sugar levels and benefit diabetics. The shikimic acid present in the star anise possess the strength to fight bacteria and virus and on the other hand fennel seeds aid in digestion. However since the powder is used in very small quantities, its overall benefits are yet to be researched. 

5 स्पाइस पाउडर (health benefits of 5 spice powder): जबकि 5 स्पाइस पाउडर का कोई ज्ञात लाभ नहीं है, पाउडर में इस्तेमाल होने वाले प्रत्येक मसाले के अपने स्वास्थ्य लाभ हैं। लौंग में सक्रिय यौगिक यूजेनॉल और दालचीनी में एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कणों को दूर करने में मदद करके शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करता है। दालचीनी को रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने और मधुमेह रोगियों को लाभ पहुंचाने के लिए भी जाना जाता है। चक्र फूल में मौजूद शिकिमिक एसिड बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने की ताकत रखता है और दूसरी ओर सौंफ पाचन में सहायता करता है। चूंकि इस पाउडर का उपयोग बहुत कम मात्रा में किया जाता है, इसलिए इसके समग्र लाभों पर शोध किया जाना बाकी है।

Show only recipe names containing:
  

Orange Gateau ( Cakes and Pastries)
Recipe# 33947
23 Aug 12

 by Tarla Dalal
No reviews
An aesthetic gateau laced with the tanginess of orange and whipped cream.
Gooey Coffee Cake ( Cakes and Pastries)
Recipe# 35843
23 Aug 12

 by Tarla Dalal
Some things taste best at the zenith of gooeyness and cakes are no exception to this rule! you are sure to enjoy this saucy coffee flavoured cake.
Subscribe to the free food mailer

Suva

Missed out on our mailers?
Our mailers are now online!

View Mailer Archive

Privacy Policy: We never give away your email

REGISTER NOW If you are a new user.
Or Sign In here, if you are an existing member.

Login Name
Password

Forgot Login / Passowrd?Click here

If your Gmail or Facebook email id is registered with Tarladalal.com, the accounts will be merged. If the respective id is not registered, a new Tarladalal.com account will be created.

Click OK to sign out from tarladalal.
For security reasons (specially on shared computers), proceed to Google and sign out from your Google account.

Are you sure you want to delete this review ?